भारत के लिए ख़तरा है आतंकवाद या आरक्षण ? जाट आंदोलन | पटेल आंदोलन

आप बताओ की भारत के लिए सबसे ज्यादा खतरा किससे है आतंकवाद से या आरक्षण , मुझे तो लगता है की भारत को सबसे ज्यादा खतरा आरक्षण से है न की आतंकवाद से क्यों जब भी भारत में आरक्षण की बात आती है तो लगभग १०० से २०० लोग मारे जाते है तो इसके लिए आतंकवादियों की जररूत ही क्या है |


आप लोगो ने हरियाणा में जो जाट आंदोलन चल रहा हैं उस का मौहोल तो देखा होगा की किस तरह लोग आपस में लड़ रहे है , मेरी समझ में ये नहीं आता है की लोग किस हक़ के लिए लड़ रहे है जो हमें आज ६९ साल पहले मिल चूका है अग्रेजो से |
जाट आन्दोलन में न जाने कितनी ट्रेन रद्द हो गयी , कितनी बसें आग के हवाले हो गए , न जाने कितनी जाने चली गयी , बस आरक्षण के चक्कर में । एक तरफ देश को आगे बढ़ने के लिए कोशिश की जा रही है और एक तरफ खाई में गिराने की कोशिश । 
  देश अब पीछे की और अग्रसर होता हुआ दिखाई दे रहा है । अभी समानंतर में दिल्ली के JNU में स्टूडेंट्स ने देश द्रोही नारे लग रहे थे । युवाओं का पूरा ध्यान इन भ्रष्ट कामो पर केंद्रित करवाया जा रहा है । जिसका पूरा पूरा लाभ राजनैतिक लोगो को मिल रहा हैं । 
सुनने में आ रहा है कि जाट आन्दोलन के परिणाम को देखते हुए राजपूत भी आंदोलन करने वाले हैं , अगर इसी तरह से चलता रहा तो इस देश को बरबाद होने से कोई नही रोक सकता । 
मैं तो यह कहता हु कि अपने आप को इतना मजबूत बनाये कि हमें किसी भी आरक्षण की जरूरत न पड़े ।

आज देश में हर रोज जवान शहीद हो रहे है लकिन उनकी चिंता किसी को नहीं है सब को चिंता है अपने आरक्षण का । अभी हाल ही में रविवार को कश्मीर में 3 जवान शहीद हो गये जिसमे से एक जवान हरियाणा का था आज हरियाणा के जाट को आरक्षण मिला है कल को गुजरात के पटेल आरक्षण के लिए लढाई करंगे उसके फिर किसी और राज्य में ऐसा होगा तो देश का विकास कैसे होगा जब सरकार आरक्षण ही देने में अपना सारा time लगा देगी |
आप भी अपने विचार व्यक्त करे , आपके विचार का स्वागत रहेगा इस ब्लॉग पर,,,








देश आगे बढ़ता है काम करने से न की मांग करने से अभी हल ही में अक्षय कुमार की फिल्म आई थी जिसका नाम एयरलिफ्ट था जिसमे एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है जो भारत को ऐसा देश मानता था की जो बस केवल बाते करता है और कुछ भी नहीं कर सकता है लकिन जब वह मुशीबत में पड़ता है और उसे इसलिए नहीं मारा जाता क्योकि वह एक भारतीय होता है तब  उसे यहसास होता है की भारत दुनिया के लिए क्या है और वह एक वाक्य कहता है की अब मई कभी ये नहीं कहूँगा की हमारा देश कुछ नहीं कर सकता है |




कोई टिप्पणी नहीं

Your comment is valuable for us.

Blogger द्वारा संचालित.